Pados Ki Ladki Ki Chudai Ki Kahani

पड़ोस की लड़की चुदाई की कहानी

 

Pados Ki Ladki Ki Chudai Ki Kahani, पड़ोस की लड़की चुदाई की कहानी

हेलो दोस्तों कैसे है आप सब, ये कहानी मेरी और मेरे पड़ोस में रहने वाली एक लड़की  संगीता देवी की है| तो मैं पहले परिचय   करता हु, मेरे घर के पास वाले घर में ही रहती है और उनके घर में उनके माता-पिता और उनका बड़ा भाई रहते है| उनके पापा जॉब करते है और उनकी मम्मी धार्मिक संस्था में काम करती है| उनका भाई भी जॉब करते है| वो कॉलेज में पढाई करती है| मैं जब जॉब करता था दिल्ली  में| तो मैंने जॉब को किसी वजह से अलविदा कह दिया और कुछ दिनों के लिए घर पर वापस आ गया| तब संगीता देवी, वो अपने 5th सेमेस्टर की तैयारी कर रही थी| उनके परिछाये  नजदीक थे| वो पढ़ाई करने के लिए मेरे घर पर आई थी| तब तक मैंने उनको पूरी तरह से देखा नहीं था| लेकिन उनका भाई मेरे दोस्त की तरह था और मैं उनके घर आता जाता रहता था| उनकी बहन मुझ से एक दो विषय  पढना चाहती थी और उसके भाई ने भी मुझे कहा था, कि तू हमारे घर आता जाता रहता है|| इसको कुछ सिखा दे| वहा का माहौल बहुत अच्छा था  दोस्तों वहा जबरजस्त माल भी थी दोस्तों|

 

ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

 

ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा दोस्तों  उसके एग्जाम आने वाले है| तो मैंने कहा कोई दिक्कत नहीं है| मैंने उनके घर संगीता देवी को दोपहर के वक्त सिखाने के लिए गया| तो उस दिन वो क्या मस्त लग रही थी| वो घर उस वक्त नाईट ड्रेस पहन कर घूम रही थी| वो घर में नाईट ड्रेस ही पहन कर रहती थी और मैं अब उसको रोजाना देखा करता था और मैं दिल तो बेकाबू होने लगा था| मेरा दिल उन पर आ गया था| फिर एक दिन तो उसने हद ही कर दी| जब मैं उसके घर गया, तो क्या नज़ारा था| वो नहा रही थी और उसने बाथकमरे को लॉक नहीं किया था| मैं उनको तिरछी नजरो से देख रहा था| क्या मस्त फिगर था|| वो नहा रही थी पूरी नंगी होकर| थोड़ी देर बाद, वो टॉवल लपेट कर कमरे में आई और मुझे देख कर चौक पड़ी| फिर मैंने कहा चलो| अब जल्दी से तैयार हो कर आओ| आज मुझे बाहर जाना है कुछ काम के लिए| तो वो बोली कि आज पढ़ने का मूड नहीं है| मैंने कहा फिर| तो उसने कहा आज मुझे तुमसे कुछ बोलना है| तो मैंने कहा क्या बात है? तो वो बोली मेरे कॉलेज में मैंने एक बॉयफ्रेंड बनाया है| वो मुझकोतंग कर रहा है| तो मैंने कहा ऐसा क्यों? वो बोली वो मुझ से मेरी नंगी फोटो मांग रहा है| उह क्या मॉल था दोस्तों गजब  मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था दोस्तों|

 Pados Ki Ladki Ki Chudai Ki Kahani

कुछ भी  हो माल एक जबरजस्त था  उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये मैंने कहा तू अपने बॉयफ्रेंड को क्यों नहीं कहती, कि तू उस से ऐसा रिश्ता नहीं बनाना चाहती है| तो उसने उनके बॉयफ्रेंड को बोल दिया और फिर दुसरे दिन बोली वो अकेले घर पर है| तो मैं चुपके से उसके घर दाखिल हुआ, ये देखने के लिए; कि वो क्या कर रही है? मैंने अन्दर जाकर देखा, कि वो अपने लैपटॉप में एक पोर्न मूवी देख रही थी और वहां पर पूरी नंगी लेटी हुई थी| फिर मैंने डोर लॉक किया और उसने थोड़ी देर बाद खोला| मैंने अन्दर जाकर उनके बेड पर बैठ गया और उनके लेपटोप देखने लगा| मैंने कहा कोई अच्छी मूवी है कि नहीं? वो बोली आप अपने आप देख लो| मैंने कहा कोई बात नहीं| मैंने एकदम से पोर्न मूवी खोल दी और उसको देख कर मुस्कुराने लगा| मैंने उसको पूछा कभी किसी के साथ सेक्स किया है? उसने कहा नहीं| मैंने कहा किया तो होगा| बस मुझे बता नहीं रही हो| फिर हमने सेक्स के बारे में बातें करनी शुरू कर दी और वो बोलने लगी, कि मेरी सहेली के साथ किया है| लेकिन आज किसी लड़के के साथ सेक्स नहीं किया| फिर मैंने उसको पूछा कभी सेक्स करने का मन नहीं किया तुम्हारा? उसने कहा हुआ है बहुत बार| लेकिन मुझे डर लगता है| तो मैंने कहा इस में डरने की क्या बात है? उसमे कुछ नहीं होता डर जैसा....... फिर मैंने उसको छुने की कोशिश की, लेकिन वो एकदम से पीछे हट गयी और मेरी तरफ देख कर मुस्कुराते हुए बोली|| उह भाई साहब की माल है उसकी चुत की बात ही कुछ और है ओह्ह उसके यह का चुम्बन की तो बात अलग है| ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

 

उसके गांड मेरा मतलब तरबूज क्या गजब भाई अच्छा चुदाई चाहे जितनी कर साला फिर भी लैंड नहीं मनता दोस्तों तो उसने कहा तुम्हे कैसे पता? मैंने उसको फिर बोला तू करना चाहती है तो बता? आज तुझे लाइव सेक्स का मजा दिलवाता हु| वरना पोर्न मूवी तो है ही| वो बोली हाँ, ठीक है| मैंने लंड तो पहले से ही फनफनाया हुआ था| उसने मेरी पेंट में एकदम तम्बू बनाया हुआ था| वो इसको पहले ही नोटिस कर रही थी| मेरे लिए अब उसको कण्ट्रोल में और रखना बहुत ही मुश्किल होने लगा था| तो मैंने उनका हाथ मेरे लौड़े पर लगा दिया| मेरे लंड को महसूस करके वो बोली इतना बड़ा? मैंने कहा हाँ| देखा चाहती हो तुम? वो बोली हाँ| तो मैंने एकदम से अपनी पेंट को उतार दिया और उसके सामने अपना लंड हिलाने लगा| मेरे लंड को देख कर उसकी आँखे एकदम से चौक गयी| दोस्तों, मेरे लंड का साइज़ है ही ऐसा....... देखने वाला को एकदम से वहीँ अटक जाता है| वो मेरे लंड को देखने लगी| फिर उसने हलके से टच किया| तो मेरे लौड़े ने झटके मारने शुरू कर दिए| वो देखती रही| फिर मैंने उसको कहा चल अब तू भी नंगी हो जा| वो बोली मुझे शरम आ रही है| दोस्तों मेरा तो मानना है जब भी चुत मारनी हो बिना कंडोम के ही मारो तभी ठीक नहीं सब बेकार| ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

 

उसके बूर की गहराई में जाने के बाद क्या मजा आया दोस्तों  जैसे उसके चुत में माखन भरा हो  तो मैंने कहा इसमें शरम आने वाली क्या बात है| फिर मैं ने उनको नंगा कर दिया....... मैं तो उसके शरीर को देखता ही रह गया| क्या मस्त बूब्स थे|| उसने अपनी चूत के बालो को भी क्लीन किया हुआ था| एकदम क्लीन शेव थी वो| मुझे तो देख कर वो एकदम वर्जिन लग रही थी| मैं तो उनके बूब्स पर फ़िदा हो गया था और उनसे खेलने लगा| उनके गोरे गोरे बूब्स एकदम गोल थे और उनपर पिंक कलर के छोटे छोटे निप्पल एकदम सीधे खड़े होकर अब तक मस्त टाइट हो गये  उसको देखने बाद साला चुदाई भूत सवार हो जाता दोस्तों| ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

 

मुझे तो कभी कभी चुदाई का टाइफिड बुखार हो जाता है थे| फिर वो मेरे लौड़े को अपने हाथ से सहलाने लगी| थोड़ी देर बाद, ऐसे ही करने के बाद|| मैंने कहा चलो अब असली मज़ा करते है| तो वो बेड पर लेट गयी और मैंने अपने अपने लौड़े का सुपाडा उनकी चूत पर रख दिया| मैंने अपने अपने लौड़े के सुपाडे को हल्का सा पुश किया और फिर हल्का सा पुश कर दिया| वो एकदम से चिल्लाने लगी| मुझे समझ आ गया था, कि वो देखने में ही वर्जिन नहीं है| वो वास्तव में कुवारी है और उसकी चूत अभी खुली भी नहीं है| मैंने अपनी उंगलियों से थोड़ा उसकी चूत को मसला और उसकी चूत के दाने को थोड़ा साथ अपनी ऊँगली से पकड़ कर खीच दिया| वो एकदम से कसमसा  गयी थी और बोली जो करना है जल्दी करो....... अब बर्दाश्त नहीं होता| और जब तक चुदाई न करू तब तक ठीक नहीं होता| ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

 

एक बात और दोस्तों चुत को चोदते समय साला पता नहीं क्यों नशा सा हो जाता बस चुदाई ही दिखती है उह यह उसकी नशीली आँखे में एक दम  चुदकड़ अंदाज है फिर मैंने उनसे तेल लाने को बोला और वो बोली लायी| फिर तेल लगा कर मैंने उनकी चूत और मैंने लौड़े को एकदम मस्त चिकना कर दिया और फिर से ट्राई किया| इस बार मेरे पुश से मेरा लौड़ा थोड़ा सा अन्दर चले गया| क्या मस्त टाइट चूत थी उसकी| फिर वो थोड़ा दर्द हो रहा है|| ऐसा बोलने लगी| तो मैं थोड़ी देर रुक गया और कहा अभी तो तुम्हे दर्द हो रहा है| लेकिन बाद में तुम खुद ही कुदोगी| तुम मुझे बोलोगी और करो....... तेज करो....... फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और हलके हलके धक्के लगाने लगा| सिर्फ ५ मिनट में ही मैंने अपनी रफ़्तार बड़ा दी| और वो बोलने लगी....... और करो|| और तेज....... वो अब कम्पलीट मूड में आ गयी थी और बाद में, मैं झड गया| तो मैं झड़ने के बाद उसी पोजीशन में पड़ा रहा| फिर जब मैंने अपने लंड को बाहर निकाला, तो देखा कि उसकी उसकी साइज़ छोटी हो गयी थी| मैंने संगीता देवी को बोला तुम मेरे लंड अपने हाथ से सहलाना शुरू करो| ये फिर से तैयार हो जाएगा| उसने मेरे लंड को सहलाना शुरू किया और वो एकदम से खड़ा हो गया| मैंने उसको कहा तभी खड़ा करना, अगर दूसरी बार मज़ा करना हो तुम्हे| तो उसने मुझे कहा, हां|| अभी तो मज़ा लेना बाकी है और मम्मी भी ३ घंटे के बाद ही वापस आएँगी....... फिर से मेरा लंड उसने सहला कर खड़ा कर दिया और मैंने फिर उसको अलग अलग पोजीशन में उनकी चुदाई करने लगा| दोस्तों देखने से लगता है की वो पका चोदा पेली का काम करती होगी दोस्तों चुत को चाटेने के समय उसके बूर के बाल मुँह में आ रहे थे| ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

 

दोस्तों मुझे तो कभी कभी चुत के दर्शन मात्र से खूब मजा आता क्योकि मई पहले बहुत बार अपने मौसी के लड़की  को बिना पैंटी के देखा था  वाह क्या मजा आया था और वो भी आधे घंटे के बाद झड गयी और बेड पर लेटी रही| मैं भी थोड़ी देर बाद झड गया और वहीँ उसी पोजीशन में पड़ा रहा| फिर जब मैं बाथकमरे में नहाने चला गया| तो वो भी मेरे साथ चली आई और फिर उसे उसका चुदवाने का मन हो रहा था| तो मैंने बाथकमरे में ही उसको चोदा और सेक्स किया मस्त वाला|| मैं उसके बूब्स को मस्त चूसता रहा और हल्का हलका दबाने लगा| थोड़ी देर बाद मैं झड गया और अब मुझे भी पेन हो रहा था| उस दिन हमने तीन बार सेक्स किया| अब वो मुझ से नंगी ही चिपक गयी थी| हम दोनों ही बहुत खुश थे और फिर जब तक मैं घर पर रहा और मैंने उसको पढाया| मैंने उसकी रोजाना चुदाई की और मज़ा दिया|| उसके बाद तो उसका कॉलेज और मेरी जॉब एक ही शहर में हो गयी और उसने वहां पर हॉस्टल ले लिया और मैंने एक फ्लैट| उसके भाई ने मुझे ही उसका गार्डियन बना दिया| फिर तो वो हर वीकेंड मेरे फ्लैट पर आती और हम दो दिन नंगे रहते और मैं उसकी पुरे दिन और पूरी रात चुदाई करता और चुदाई का मज़ा लिया.......और क्या बताऊ दोस्तों मैंने बहुत सी कमसीन जवान और मदमस्त लड़कियों की बूर में चुदाई किया है काफी मजा किया| ये कहानी आप chudaikikahaniyan|in पर पढ़ रहे हैं

Post a Comment

Please Select Embedded Mode To Show The Comment System.*

Previous Post Next Post